स्वस्थ रहना क्यों है जरूरी ?

अच्छी सेहत हर कोई चाहता है। और सेहत ही है जो लोगों के जीवन को खुशहाल बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है।हालांकि, वर्तमान समय में सेहत को लेकर सभी लोग बातें करते हैं, यहाँ तक की लोग मशहूर हस्तियों से भी प्रभावित होकर अपनी सेहत के प्रति जागरूक (health conscious) हो गए हैं।
हर साल 7 अप्रैल को विश्व स्वास्थ दिवस (world health day) के रूप में मनाया जाता है। इस दिन को मनाने का मुख्य उद्देश्य यही है की लोगों में सेहत को लेकर जागरूकता को जितना बढ़ा सके उतना बढ़ा सके। बावजूद इसके, यह काफी दुर्भाग्य की बात है कि कुछ लोग ऐसे भी हैं, जो सब कुछ जानते हुए भी अपनी सेहत पर विशेष ध्यान नहीं देते हैं।

सेहत है क्या ? (what is health?)

सेहत या स्वास्थ का सीधा मतलब है की आप या कोई भी व्यक्ति शारीरिक, मानसिक रूप से स्वस्थ होता है। अब यह भी कह सकते हो जब किसी व्यक्ति की रोग-प्रतिरोधक क्षमता (immunity power) मजबूत होती है, तो उसे भी सेहतमंद व्यक्ति कहते है।

क्या हैं खराब सेहत के लक्षण? (Symptoms of bad health)

नींद का न आना- अक्सर, लोगों को नींद को लेकर शिकायत रहती है की उन्हें नींद नहीं आ रही है या फिर देर से नींद आ रही है। और तो और इसका इलाज कराने के लिए वे हर संभव तरीके अपनाते हैं।

आपको बता दें, ऐसे लोगों को तुरंत अपनी सेहत की जांच करानी चाहिए क्योंकि ये खराब सेहत का लक्षण होता है।

  • बाथरूम करने में परेशानी- यदि किसी व्यक्ति को टॉयलेट/ बाथरूम करने में परेशानी होती है, तो उसे इसकी सूचना अपने डॉक्टर को देनी चाहिए।
  • हाथ-पैरों का ठंडा पड़ना/ रहना- आपने देखा होगा कि कुछ लोगों के हाथ-पैर हमेशा ठंडे रहते हैं। और वे इस बातों को लेकर परेशान भी रहते हैं, लेकिन वे इसका कारण समझ नहीं पाते हैं।

क्या हैं खराब सेहत के कारण? (Bad health causes)

सेहत का खराब होना किसी के लिए भी काफी नुकसानदायक साबित होता है क्योंकि इसका असर उसके साथ-साथ उसके प्रियजनों की ज़िदगियों पर भी पड़ता है।
सभी लोगों को खराब सेहत के निम्नलिखित कारणों की जानकारी होनी चाहिए ताकि वे अपनी रक्षा कर सकें-

  • नशीले पदार्थों का सेवन – खराब सेहत का मुख्य कारण नशीले पदार्थों जैसे शराब, तंबाकू इत्यादि का सेवन करना है।
  • अनहेल्थी फूड – ऐसा माना जाता है कि हमारे खान-पान का हमारी सेहत पर गहरा असर पड़ता है।
  • एक्सराइज़ न करना- यदि कोई व्यक्ति एक्सराइज़ नहीं करता है, तो उसकी सेहत खराब हो सकती है।
  • तनाव – खराब सेहत केवल मानव- शरीर तक ही सीमित नहीं है बल्कि इसका संबंध व्यक्ति की मानसिक सेहत से भी है।
  • अन्य बीमारी से पीड़ित – खराब सेहत का खतरा ऐसे लोगों पर भी रहता है, जिनके परिवार में अन्य व्यक्ति डायबिटीज, हाई बी.पी, दिल संबंधी बीमारी, किडनी की बीमारी इत्यादि बीमारी से पीड़ित हो। ऐसे लोगों को अपनी सेहत का विशेष ध्यान रखना चाहिए और समय-समय पर अपना हेल्थचेकअप कराना चाहिए।

क्यों जरूरी है अच्छी सेहत? (why is good health needed?)

एक ओर जहाँ, खराब सेहत लोगों की ज़िदगियों को दुखदायी बना सकती है, वहीं दूसरी ओर, अच्छी सेहत उनकी ज़िदगियों को खुशियों से भर भी सकती है। इस स्थिति में आपके मन में यह सवाल ज़रूर आया होगा कि किसी भी व्यक्ति के लिए अच्छी सेहत क्यों जरूरी है,

तो आपको निम्नलिखित कारणों की जानकारी होनी चाहिए क्योंकि इसीमें आपके इस सवाल का उत्तर छिपा है-

  • वजन का कंट्रोल में रहना- काफी सारी बीमारियाँ अधिक वजन का नतीजा बन सकती है, इसलिए अच्छी सेहत वजन को कंट्रोल रखने में सहायक साबित हो सकती है।
  • मूड का अच्छा रहना- अच्छी सेहत का असर व्यक्ति की शारीरिक सेहत के साथ-साथ मानसिक सेहत पर भी पड़ता है। इसकी वजह से व्यक्ति का मूड अच्छा रहता है और वह खुश रहता है।
  • बीमारियों के खतरा का कम होना- जहां एक ओर, खराब सेहत गंभीर बीमारियों के खतरे को बढ़ा सकती है, तो वहीं दूसरी ओर, अच्छी सेहत इन बीमारियों के खतरे को काफी हद तक कम कर सकती है।
  • ऊर्जावान रहना- यदि कोई व्यक्ति अपने शरीर का ध्यान रखता है, तो उसके शरीर में ऊर्जा रहती है। इस वजह से वह ऊर्जावान (energetic) महसूस करता है, जिससे वह किसी भी काम को तेज़ी से कर पाता है।
    लंबे समय तक जीवित रहना- अच्छी सेहत का सबसे बड़ा लाभ लोगों की ज़िदगियों पर पड़ता है।

अच्छी सेहत को कैसे बनाए? (how to maintain good health?)

जितना जरूरी अच्छी सेहत की आवश्यकता जानना है, उतना जरूरी यह भी जानना है कि अच्छी सेहत को कैसे बनाए रखा जा सकता है। यदि लोगों को अच्छी सेहत बनाए रखने के सही तरीके की जानकारी न हो, तो वे आसानी से बीमार पड़ सकते हैं।
इस प्रकार, वे इन 6 उपायों को अपनाकर अच्छी सेहत प्राप्त कर सकते हैं-

  • पौष्टिक भोजन – अच्छी सेहत को बनाए रखने का सबसे आसान तरीका अपने खान-पान पर ध्यान देना है।
  • पर्याप्त मात्रा में पानी – पौष्टिक भोजन के अलावा मानव शरीर को पानी की भी जरूरत पड़ती है, जो उसे डिहाइड्रेट होने से बचाती है। अत: सभी लोगों को पर्याप्त मात्रा (6-7 गिलास प्रति दिन) पानी पीना चाहिए ताकि उसके शरीर में पानी की कमी न हो।
  • नशीले पदार्थों का सेवन न करना- जैसा कि ऊपर स्पष्ट किया गया है कि खराब सेहत नशीले पदार्थों का सेवन करने का नतीजा होती है।
  • अधिक चलना- वर्तमान समय में हम सभी लोगों को ज्यादातर काम एक जगह बैठकर ही करने पड़ते हैं, जिसका सीधा अपने शरीर पर पड़ता है। इसी कारण, हमें अधिक चलने की कोशिश करनी चाहिए ताकि हमारा वजन अधिक न बढ़े और न ही हमारे शरीर में कमज़ोरी आए।
  • साफ-सफाई का ध्यान रखना- अच्छी सेहत को बनाए रखने का बेहतरीन तरीका साफ-सफाई का ध्यान रखना है। ऐसा करने से हम तमाम तरीके से वायरस से बच सकते हैं और साथ ही खुद के बीमार होने की संभावना को भी कम कर सकते हैं।
  • एक्सराइज़ करना- यदि कोई व्यक्ति हर रोज़ कम-से-कम 30 मिनट एक्सराइज़ करता है, तो उसकी सेहत अच्छी बनी रहती है, जिससे वह कम बीमार पड़ता है।
    इस प्रकार, हम सभी लोगों को हर रोज़ एक्सराइज़ करनी चाहिए ताकि हमारी रोग-प्रतिरोधक क्षमता (immunity power) बढ़ सके, जो हमारी किसी भी बीमारी से ठीक होने में सहायता कर सके।

निश्चित रूप से, वर्तमान समय में काफी सारी बीमारियाँ फैल रही हैं, जिनकी वजह से हर साल लाखों लोगों को अपनी जान गवानी पड़ती है। ऐसा मुख्य रूप से लोगों की खराब सेहत का नतीजा है,इसलिए लोगों को अच्छी सेहत की उपयोगिता समझा काफी जरूरी होता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *